8:08 am - Friday December 15, 2017

क्या क्रिकेट का आई पी एल टूर्नामेंट देश का एक तिहाई काला धन पैदा करता है ? – डा स्वामी

देश को आई पी एल कभी रास नहीं आया . साधारण भारतीय समझ नहीं पा रहा था की क्रिकेटरों  को करोड़ों रूपये मैं क्यों खरीदा जाता है .उसके बाद हम बहुत कम विश्व विजेता बन पाते हैं . श्री लंका व् पाकिस्तान हमारे बराबर के ही खिलाड़ी हैं और वहां कोई आई पी एल नहीं है .फिर ललित  मोदी की धर पकड़ , शरद पवार सरीखे लोगों का वर्चस्व , श्रीनिवास की उद्दंडता व् सर्वोच्च न्यायालय का दखल , इन सबने आई पी एल की छवि बहुत खराब कर दी थी .मैच फिक्सिंग की बारबार उडती ख़बरों ने भी माहौल को बहुत खराब किया. उधर पकिस्तान मैं जावेद मिंयादाद के लड़के का दवूद इब्राहीम की लड़की से विवाह यह साफ़ दिखा रहा था की क्रिकेट और शायद आई पी एल कालाधन ही नहीं बल्कि आतंकवादियों का गिरोह का मोहरा भी है . उधर देश बोर्ड की शह पर कोच चैपल द्वारा गांगुली का अपमान भुला नहीं है . बोर्ड ने कप्तान को काबू करने के लिए कोच को पैदा किया और कोच को काबू करने के लिए फिटनेस को उठाया .यह गांगुली का जुझारूपना था की उसने लड़ कर अपनी जगह दुबारा पाई .अब डा सुब्रमनियम स्वामीने जो खुलासा किया है उसके अनुसार आई पी एल भारत का  एक  तिहाई काला धन पैदा करता है . इसमें क्रिकेट के अंतर्राष्ट्रीय मचों मैं सट्टे को जोड़ लें तो क्रिकेट जैसे मजेदार खेल से नफरत सी हो जाती है .क्रिकेट देश का सबसे अधिक लोकप्रिय खेल है . इसको साफ़ करने की बहुत आवश्यकता है .इस पर सट्टा लगाना बहुत गलत होगा . नीचे लिखा लेख व विडियो  देखें

Many hitherto not-talked-about topics discussed here:
1.How IPL generates Black money – An explosive interview with Dr. Swamy.
2.Why Dr. Swamy wants an e-Auction instead of Manual action.
3.How a few vested interests are trying to corner the lucrative cricket contracts
4.Why was Chennai Super Kings expelled from IPL?

All these discussed for the first time!

Filed in: Articles, Sports

One Response to “क्या क्रिकेट का आई पी एल टूर्नामेंट देश का एक तिहाई काला धन पैदा करता है ? – डा स्वामी”

  1. September 19, 2017 at 9:13 am #

    Must be. Quite possible.

Leave a Reply